Home देश राहुल गांधी झूठ गढ़ रहे हैं, मैं नीरव मोदी से कभी नहीं...

राहुल गांधी झूठ गढ़ रहे हैं, मैं नीरव मोदी से कभी नहीं मिला : अरुण जेटली

34
0
SHARE

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी झूठ ‘‘गढ़’’ रहे हैं.  उन्होंने कहा कि संसद में नीरव मोदी से मिलने और देश छोड़कर भागने में उसकी मदद करने की बात तो छोड़िए, उन्होंने भगोड़ा हीरा कारोबारी को कभी व्यक्तिगत तौर पर देखा तक नहीं है. कांग्रेस अध्यक्ष को लगातार ‘‘मसखरा शहजादा’’ करार देते हुए जेटली ने एक फेसबुक ब्लॉग में कहा कि क्या गांधी को कोई व्यक्तित्व संबंधी दिक्कत है जहां ‘‘वह दर्जनों बार झूठ बोलते हैं और फिर स्व-विभ्रम में उसे सच मानते हैं या यह किसी ‘मसखरे शहजादे’ का मामला है जिसने मसखरेपन में खुद को ही मात दे दी?’’

गांधी के इस आरोप पर कि उन्होंने अरबों के पी एन बी फर्जीवाड़े के आरोपी नीरव मोदी से संसद में मुलाकात की थी, जेटली ने कहा, ‘‘मुझे याद नहीं आ रहा कि मैंने अपने जीवन में कभी नीरव मोदी को देखा है.  संसद में उसके मुझसे मिलने का सवाल ही नहीं उठता.  यदि वह संसद आया होगा, जैसा कि राहुल गांधी ने दावा किया है, तो तब यह रिसेप्शन के रिकॉर्ड से पता चल जाएगा. ’’

जेटली ने उल्लेख किया कि मध्य प्रदेश में दो अलग-अलग कार्यक्रमों में बोलते हुए गांधी ने उनके दो संदर्भ दिए.  वित्त मंत्री ने कहा कि पहले संदर्भ में गांधी ने दावा किया कि ‘‘मैंने स्वीकार किया है कि विजय माल्या मुझसे संसद में मिला, उन्होंने आगे दावा किया कि मैंने स्वीकार किया है कि माल्या ने मुझसे कहा कि वह देश छोड़कर लंदन भाग रहा है और मैंने भागने में उसकी मदद की. ’’

माल्या के संबंध में मंत्री ने कहा कि संसद सदस्य के रूप में माल्या ने एक बार अपने मामले पर चर्चा के लिए संसद के गलियारे में उनका पीछा किया. जेटली ने कहा, ‘‘मैंने उसकी तरफ कोई ध्यान नहीं दिया और उससे कहा कि वह अपना प्रस्ताव बैंकरों के समक्ष रखे.  इस पर उनका (गांधी) कहना है कि यह एक ऐसी बैठक हुई जिसमें उसने मुझसे कहा कि वह लंदन भाग रहा है.

पूरी तरह झूठ. ’’ वित्त मंत्री ने आगे लिखा, ‘‘उन्होंने (गांधी) यह झूठ कैसे गढ़ा? हिन्दुस्तान टाइम्स समिट में उन्होंने मेरे साथ हुई एक बैठक का जिक्र किया और फिर बयान को मेरे ऊपर डाल दिया.  जब मुझसे पूछा गया तो मैंने केवल यही कहा कि मैं मति भ्रम का जवाब नहीं दे सकता. ’’ जेटली ने कहा, ‘‘अब यह कहा जा रहा है कि मैं राष्ट्रपति मैक्रों की छिपी हुई टोली का हिस्सा हूं.

क्या यह व्यक्तित्व संबंधी दिक्कत है जहां वह दर्जनों बार झूठ बोलते हैं और फिर विभ्रम में उसे सच मानने लगते हैं या यह ‘मसखरा शहजादे’ का मामला है जिसने मसखरेपन में खुद को ही मात दे दी है. ’’ राफेल मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा लगाए गए आरोपों पर जेटली ने कहा कि विमान और इसकी हथियार प्रणाली भारत में बिल्कुल नहीं बनाई जा रही है, न दसॉल्ट द्वारा, न ही किसी निजी कंपनी द्वारा. उन्होंने कहा कि सभी 36 विमान और उनके हथियार पूरी तरह उड़ान भरने और इस्तेमाल किए जाने की स्थिति में भारत पहुंचेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here