Home प्रदेश कांग्रेस को छोड़ राजस्थान की दूसरी पार्टीयों से तालमेल जुटाने में लगी...

कांग्रेस को छोड़ राजस्थान की दूसरी पार्टीयों से तालमेल जुटाने में लगी BSP, NPP नेता से की मुलाकात

42
0
SHARE

जयपुर/ शशि मोहन: कांग्रेस से गठबंधन नहीं करने का बसपा सुप्रीमो मायावती ने ऐलान कर दिया है और मायावती के इस ऐलान के बाद बसपा की राजस्थान इकाई एक बार फिर से नई संभावनाएं तलाशने में सक्रिय हो गई है. इसी कड़ी में बीएसपी के प्रदेश प्रभारी मुनकाद अली एनपीपी और दूसरी पार्टियों से तालमेल बैठाने की संभावनाएं खोजते दिख रहे हैं. प्रदेश के राजनीतिक हालात पर बहुजन समाज पार्टी ने एनपीपी के विधायक नवीन पिलानिया से भी बातचीत की है.

कांग्रेस से गठबंधन की संभावनाएं खत्म होने के बाद बहुजन समाज पार्टी अब प्रदेश में दूसरी राजनीतिक ताकतों के साथ तालमेल बिठाने की कोशिश कर रही है. बसपा के प्रदेश प्रभारी मुनकाद अली ने इसी सिलसिले में शुक्रवार को एनपीपी के नेता और आमेर विधायक नवीन पिलानिया से मुलाकात की. हालांकि, पिलानिया इस मुलाकात को पूरी तरह शिष्टाचार भेंट बता रहे हैं. उनका कहना है कि लंच पर दो पार्टियों के प्रतिनिधियों की बातचीत हुई और इसका दायरा केवल प्रदेश के मौजूदा राजनीतिक हालात और घटनाक्रम तक ही सीमित रहा.

प्रदेश में समय-समय पर तीसरे मोर्चे की संभावनाएं बनी बिगड़ी
नवीन पिलानिया और मुनकाद अली की मुलाकात को भी प्रथम दृष्टया इसी संदर्भ में देखा जा रहा है. लेकिन पिलानिया गठबंधन की किसी भी बात को प्रीमेच्योर बता रहे हैं. उन्होंने कहा कि तीसरा विकल्प बनने की संभावनाएं भी हैं और यह जरूरी भी है, लेकिन पहली मुलाकात में गठबंधन तय नहीं हुआ करते.

पिछले कुछ चुनाव से बहुजन समाज पार्टी प्रदेश में उपस्थिति दर्ज कराती आई है, लेकिन मौजूदा विधानसभा में तीन और पिछली विधानसभा में 6 विधायकों के साथ आई बहुजन समाज पार्टी प्रदेश में अपनी संभावनाओं को लगातार तलाशती रही है और अब पार्टी एक बार फिर इस दिशा में तेजी से सक्रिय हो गई है. यही कारण है कि राजनीतिक हलकों में विधायक हनुमान बेनीवाल की भी बसपा से नजदीकीयों की चर्चा होने लगी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here