Home देश CBSE ने दिल्‍ली पुलिस को बताया, कौन है पेपर लीक का गुनहगार!

CBSE ने दिल्‍ली पुलिस को बताया, कौन है पेपर लीक का गुनहगार!

198
0
SHARE

सीबीएसई पेपर लीक मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की स्‍पेशल टीम ने 25 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की है. इसके साथ ही दिल्ली-एनसीआर में 10 से अधिक ठिकानों पर पुलिस ने छापेमारी की. दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा दो मामले दर्ज करके 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र के पेपर तथा 10वीं कक्षा का गणित का पर्चा कथित रूप से लीक होने के मामले की जांच तेजी से कर रही है. वहीं दूसरी ओर सीबीएसई ने कहा है कि परीक्षा के लिए नई तारीखों का ऐलान जल्द किया जाएगा.एक अधिकारी ने बुधवार (28 मार्च) को यह जानकारी दी. पेपर लीक की खबरों के बीच सीबीएसई ने घोषणा की है कि 10वीं कक्षा की गणित और 12वीं कक्षा की अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा कराई जाएगी.

सीबीएसई ने बीते 23 मार्च को दिल्ली पुलिस को फैक्स के जरिए एक शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उन्होंने पेपर लीक के पीछे राजेंद्र नगर में रहने वाले एक व्यक्ति का हाथ बताया था. शिकायत के मुताबिक यह व्यक्ति एक कोचिंग इंस्टीट्यूट चलाता है.

अर्थशास्त्र का पेपर लीक
सोमवार (26 मार्च) को सोशल मीडिया पर अर्थशास्त्र के पेपर के लीक होने का दावा किया गया था, जिसके बाद 12वीं के सीबीएसई के छात्रों के बीच हड़कंप मच गया था. छात्रों का तनाव सीबीएसई के इस दावे पर भी दूर नहीं हुआ कि उसकी ओर से कोई चूक नहीं हुई है.

पेपर लीक मामले में 2 मामले दर्ज
इस बीच, अपराध शाखा के विशेष आयुक्त आर पी उपाध्याय और अपराध शाखा के संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से बुधवार (28 मार्च) शाम आगे की जांच पर चर्चा की. दिल्ली पुलिस ने एक बयान जारी करके कहा कि सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक की शिकायत पर उन्होंने दो मामले दर्ज किए हैं. पहला मामला अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के संबंध में मंगलवार (27 मार्च) दर्ज किया था, वहीं 10वीं का पेपर लीक होने का मामला बुधवार (28 मार्च) को दर्ज किया गया.

ये मामले धोखाधड़ी (420), आपराधिक षडयंत्र (120बी) और आपराधिक विश्वासघात (406) के आरोप में दर्ज किए गए हैं. मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है जिसमें दो पुलिस उपायुक्त, चार सहायक पुलिस आयुक्त और पांच निरीक्षक शामिल हैं. यह दल संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) की निगरानी में काम करेगा.

जांच के लिए एसआईटी का गठन
सीबीएसई द्वारा अपराध शाखा में दो मामले दर्ज करने के बाद एसआईटी का गठन हुआ है. पहला मामला मंगलवार (27 मार्च) शाम दर्ज हुआ था, जिसमें सीबीएसई की 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय के प्रश्न-पत्र लीक होने का मामला था, तथा बुधवार (28 मार्च) को दर्ज दूसरे मामले में 10वीं के गणित विषय के प्रश्न-पत्र लीक का मामला था. 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को, जबकि 10वीं की गणित की परीक्षा 28 मार्च को हुई थी.

सीबीएसई पेपर लीक: बोर्ड ने पुन: परीक्षा का ऐलान किया
पेपर लीक की खबरों के बीच सीबीएसई ने बुधवार (28 मार्च) को घोषणा की है कि 10वीं कक्षा की गणित और12 वीं कक्षा की अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा ली जाएगी. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड( सीबीएसई) ने परीक्षा फिर से लिए जाने के बारे में सर्कुलर जारी कर कहा कि इस बारे में तारीखों और अन्य जानकारी को बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा. इसमें कहा गया, ‘‘जैसा कि खबरों में आया है, कुछ परीक्षाओं के आयोजन में कुछ घटनाओं का बोर्ड ने संज्ञान लिया है. बोर्ड परीक्षाओं की शुचिता और निष्पक्षता को बनाए रखने के लिए और छात्रों के हित में बोर्ड ने उक्त विषयों की दोबारा परीक्षा लेने का फैसला किया है.’’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here