Home देश उपचुनाव में हार के बाद एक्शन में योगी सरकार, 37 IPS को...

उपचुनाव में हार के बाद एक्शन में योगी सरकार, 37 IPS को थमाया ट्रांसफर लेटर, गोरखपुर के DM का प्रमोशन

84
0
SHARE

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को मिली हार के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ एक्शन में आ गए हैं. योगी सरकार ने 37 IPS अफसरों का तबादला कर दिया है. इसके अलावा मतगणना के वक्त विवादों में रहे गोरखपुर के जिलाधिकारी राजीव रौतेला का भी तबादला कर दिया गया है. विजयन पांडियन को गोरखपुर का नया डीएम बनाया गया है. हालांकि राजीव रौतेला का प्रमोशन कर दिया गया है. उन्हें तराई क्षेत्र देवीपाटन का कमिश्नर बनाया गया है. इसके अलावा बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह का भी तबादला कर दिया गया है.

देखें तबादले की लिस्ट
– गोरखपुर कलेक्टर राजीव रौतेला देवीपाटन कमिश्नर बनाये गए.
– राजीव कपूर चेयरमैन पिकअप.
-आलोक सिन्हा अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर.
-अनूप चंद्र पांडे को एनआरआई विभाग का एडिशनल चार्ज.
-राजेंद्र कुमार तिवारी एडिशनल चार्ज वाणिज्य कर हटाया गया.
-नितिन रमेश गोकर्ण प्रमुख सचिव आवास.
-मुकुल सिंघल से प्रमुख सचिव आवास का चार्ज हटाया गया.
-आलोक टंडन स्थानिक आयुक्त नई दिल्ली.
-आलोक टंडन CEO ग्रेटर नोएडा.
-दीपक अग्रवाल कमिश्नर वाराणसी बने.
-चंद्र प्रकाश त्रिपाठी कमिश्नर सहारनपुर.
-के रविंद्र नायक कमिश्नर उद्योग.
-रणवीर प्रसाद कमिश्नर उद्योग के चार्ज से मुक्त किया गया.
– रंगराव कमिश्नर आजमगढ़.
– के विजयेद्र पांडियन जिलाधिकारी गोरखपुर
-सौम्या अग्रवाल वीसी कानपुर
-चंद्र भूषण सिंह डीएम अलीगढ़
-दिवाकर द्विवेदी डीएम आजमगढ़
– विशाखा जी DM चित्रकूट
– राजेंद्र प्रसाद डीएम भदोही
– प्रांजल यादव निदेशक प्रशिक्षण एवं सेवायोजन
-कृष्णा करुणेश डीएम बलरामपुर
-प्रमोद उपाध्याय डीएम हापुड़
-हेमंत कुमार डीएम अमरोहा
-नवनीत सिंह डीएम चंदौली बने
-राकेश मिश्रा विशेष सचिव चीनी उद्योग
-अमित सिंह डीएम सोनभद्र
-रामाशंकर मौर्या डीएम हाथरस
-सुरेंद्र विक्रम विशेष सचिव सिंचाई
-भवानी सिंह बलिया DM का चार्ज
-सारिका मोहन विशेष सचिव सिंचाई
-शीतला वर्मा डीएम सीतापुर
-अखिलेश मिश्रा डीएम पीलीभीत
-धीरज कुमार विशेष सचिव समाज कल्याण
-रमाकांत पांडे निदेशक मंडी परिषद
-बरेली के मनबढ़ DM राघवेंद्र विक्रम सिंह विशेष सचिव एपीसी
-वीरेंद्र सिंह डीएम बरेली
-अमरनाथ उपाध्याय डीएम महाराजगंज बनाये गये.

यूपी में लोकसभा उपचुनाव में दोनों सीटों पर सपा जीती
मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को तगड़ा झटका देते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) ने बुधवार को फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर हुए उप चुनाव में जीत दर्ज की. गोरखपुर सीट उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और फूलपुर सीट उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के सांसद पद से इस्तीफा देने के बाद खाली हुई थी. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने अभी तक की अपनी कट्टर प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी को उप चुनाव में समर्थन का ऐलान किया था.

 फूलपुर में सपा के नागेंद्र सिंह पटेल ने बीजेपी के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 59,613 मतों से हराया. गोरखपुर में सपा के उम्मीदवार प्रवीण कुमार निषाद ने बीजेपी के उपेंद्र दत्त शुक्ला को 21,881 मतों से पारजित किया. फूलपुर लोकसभा सीट से विजयी नागेंद्र पटेल ने इस जीत पर फूलपूर की जनता का शुक्रिया अदा किया और कहा कि उन्हें उनके नेता अखिलेश यादव और बहनजी मायावती के आशीर्वाद से जीत मिली है. यहां से स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में लड़ रहे जेल में बंद अतीक अहमद को 33,818 मत हासिल हुए जबकि कांग्रेस प्रत्याशी मनीष मिश्रा को 11,934 मत हासिल हुए. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने आईएएनएस से कहा, “यह (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी और योगी (आदित्यनाथ) को अस्वीकार किया जाना है.”

2014 लोकसभा चुनाव के बाद से इन दोनों सीटों पर अचानक बीजेपी के खिलाफ हुए मतदाताओं के रुख पर उन्होंने कहा, “उन्होंने बड़े-बड़े वादे किए लेकिन उन्हें पूरा नहीं किया. ” खास बात यह रही कि समाजवादी पार्टी के नेताओं ने खुलकर यह स्वीकार किया कि नतीजे में बसपा की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण रही.

बीजेपी ने 2014 में राज्य की 80 लोकसभा सीटों में से 73 पर जीत हासिल की थी. उसके सहयोगियों ने भी दो सीटों पर जीत दर्ज की थी. सपा ने पांच सीटें अपने नाम की थी जबकि कांग्रेस और बसपा अपना खाता खोलने में नाकाम रही थीं.

 गोरखपुर के जिला अधिकारी राजीव रौतेला ने मतगणना केंद्रों पर पत्रकारों के प्रवेश पर रोक लगाकर विवाद खड़ा कर दिया था और पहले दो चरण के बाद वोटों की संख्या को जारी नहीं किया था. लेकिन, बाद में उन्होंने संवाददाताओं को हर दौर की गिनती की जानकारी दी.