Home प्रदेश सपा-बसपा गठबंधन की संभावना पर रामगोपाल बोले- ‘इंतजार करिये’

सपा-बसपा गठबंधन की संभावना पर रामगोपाल बोले- ‘इंतजार करिये’

80
0
SHARE

यूपी की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सपा-बसपा गठबंधन को मिली जीत पर दोनों ही पार्टियां जश्‍न मना रही हैं. इसी बीच समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने बसपा के साथ गठबंधन की संभावनाओं पर कुछ भी स्पष्ट टिप्पणी करने से इंकार कर दिया. उन्‍होंने इतना जरूर कहा कि ‘इंतजार करिए.’ बता दें कि 11 मार्च हो गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव के मतदान हुए थे. 14 मार्च को हुई मतगणना में सपा और बसपा के गठबंधन ने बीजेपी को शिकस्‍त दी, इसलिए इस जीत को भविष्‍य में सपा और बसपा के साथ चुनाव लड़ने की संभावनाओं के रूप में भी देखा जा रहा है.

जीत को बताया जनमत संग्रह
बुधवार (14 मार्च) को संसद के बाहर मीडिया से बात करते हुए रामगोपाल यादव ने कहा कि गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों के उपचुनाव में जीत योगी सरकार के खिलाफ जनमत संग्रह था. उन्होंने कहा कि वह और उनकी पार्टी बसपा और उसके कार्यकर्ताओं के आभारी हैं कि उन्होंने इन उपचुनावों में सपा उम्मीदवारों को जीत दिलाने के लिए कड़ी मेहनत की, जहां तक 2019 के आम चुनाव का सवाल है तो सिर्फ इंतजार करिए.

फूलपुर से सपा के नागेंद्र जीते
समाजवादी पार्टी के नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल ने बीजपी के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 59,460 मतों के अंतर से हराकर फूलपुर लोकसभा उपचुनाव जीता. सपा ने मतगणना के प्रथम दौर से ही बीजेपी पर बढ़त बनाए रखी थी. यहां मुंडेरा मंडी में स्थित मतगणना स्थल पर बुधवार (14 मार्च) शाम अंतिम नतीजे घोषित किए गए. सपा उम्मीदवार नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल को 3,42,922 मत मिले, जबकि बीजेपी के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 2,83,462 मत प्राप्त हुए. वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार मनीष मिश्र को 19,353 मत मिले और वह चौथे स्थान पर रहे, जबकि बाहुबली नेता अतीक अहमद को कुल 48,094 मत प्राप्त हुए. देवरिया जेल में बंद अतीक ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर यह चुनाव लड़ा था. बता दें कि फूलपुर संसदीय सीट के तहत पांच विधानसभा क्षेत्र फूलपुर, फाफामऊ, सोरांव, इलाहाबाद पश्चिम और इलाहाबाद उत्तर आते हैं और इस लोकसभा क्षेत्र में कुल 19,63,543 मतदाताओं में से महज 7,29,126 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. गत 11 मार्च को हुए मतदान का प्रतिशत 37.13 प्रतिशत था.

गोरखपुर में सपा के प्रवीण जीते
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह क्षेत्र गोरखपुर की प्रतिष्ठित लोकसभा सीट पर सपा के प्रवीन निषाद ने बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला को 21,881 वोटों से शिकस्त दी. 27 साल बाद सपा ने गोरखपुर में बीजेपी के किले को ढहाया है. गोरखपुर संसदीय सीट पर 1991 से लगातार बीजेपी जीतती आ रही थी. गोरखपुर में 1989, 1991 और 1996 में महंत अवैद्यनाथ और 1998 से 2014 तक योगी आदित्यनाथ को कोई चुनौती नहीं दे सका. पिछले लोकसभा चुनाव में योगी तीन लाख 12 हजार मतों से जीते थे लेकिन इस बार बीजेपी के उपचुनाव में ‘बीजेपी का तिलिस्म’ टूट गया है.