Home मनोरंजन ये हैं बॉलीवुड की ‘चांदनी’ के पांच अहम पड़ाव, इनसे आप भी...

ये हैं बॉलीवुड की ‘चांदनी’ के पांच अहम पड़ाव, इनसे आप भी होंगे अंजान

84
0
SHARE

यूं तो मौत पर किसी का कोई पहरा नहीं होता है. शरीर से सांसों की डोर कब कट जाए, ये किसी को पता नहीं होता. बॉलीवुड अदाकारा श्रीदेवी की मौत ने इस बात को साबित कर दिया. कौन जानता था कि दुबई सही सलामत जाने वाली बॉलीवुड की ‘चांदनी’ हमेशा के लिए अपने अपनों से दूर हो जाएंगी. अपने दमदार अभिनय और दिलकश अदाओं से करोड़ों सिने प्रेमियों के दिलों पर राज करने वाली ‘रूप की रानी’ की मौत से पूरे देश में शोक की लहर है. 54 साल की उम्र में श्रीदेवी का इस तरह जाना उनके परिवार और फेंस को ‘सदमा’ दे गया है. श्रीदेवी के बारे में आपको उन पांच अहम पड़ावों के बारे में बताते हैं जिनसे आप अंजान होंगे.

चार साल की उम्र से की फिल्में
अपने दमदार अभिनय से लोगों के दिलों में राज करने वाली श्रीदेवी ने चार साल की उम्र में बाल कलाकार के रूप में काम करना शुरू किया था. चार साल की उम्र में उन्होंने तमिल फिल्म ‘कंधन करुणई’ में काम किया था. साल 1975 में फिल्म ‘जूली’ से उन्होंने बॉलीवुड में एंट्री ली. ये फिल्म सुपर हिट हुई. 1979 में उन्होंने ‘सोलहवां साल’ में लीड एक्ट्रस नजर आईं. इस फिल्म के बाद उन्हें की फिल्मों को ऑफर मिलने लगें.

अभिनेत्रियों में पहली सुपरस्टार
बॉलीवुड की ‘चांदनी’ यानि श्रीदेवी पहली ऐसी अभिनेत्री हैं, जिन्होंने अभिनेत्रियों में पहली सुपरस्टार का दर्जा हासिल किया. उन्होंने अपने शानदार अभिनेय से ना करोड़ों सिने प्रेमियों के दिलों पर राज किया बल्कि सदमा, चांदनी, मिस्टर इंडिया, नया कदम, नगीना, घर संसार, मकसद, सुल्तान, आग व शोला जैसी कई सुपर हिट फिल्में भी दीं. फिल्म में काम करने के लिए उन्हें एक करोड़ रुपये तक का ऑफर मिला. श्रीदेवी ने फिल्मों में उनकी साड़ी वाली छवि को ट्रेंडसेटर भी साबित किया.

कई पुरस्कारों से हुईं सम्मानित
अपने अभिनेय के जरिये श्रीदेवी ने लोगों को मंत्रमुग्ध किया. साल 2013 में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया. बाल कलाकार के रूप में साल 1971 में उन्हें  केरला स्टेट फिल्म अवार्ड से भी सम्मानित किया गया. श्रीदेवी को फिल्म सदमा के लिए पहली बार फिल्मफेयर अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का नामंकन मिला था. चालबाज के लिए उन्हें फिल्म फेयर में सर्वश्रेठ अभिनेत्री के पुरुस्कार से सम्मानित किया गया. फिल्म लम्हे के लिए श्रीदेवी को उनका दूसरा फिल्म फिल्मफेयर अवार्ड मिला था. उन्हें पांच बार फिल्मफेयर अवार्ड हासिल हुआ है.

ऐसे की बोनी कपूर से शादी
1996 में उन्होंने फिल्म निर्माता बोनी कपूर से शादी की. बोनी 70 के दशक से श्रीदेवी की तमिल फिल्में देखते थे और उन्हें पसंद करते थे. दोनों की कहानी सुपरहिट फिल्म मिस्टर इंडिया के दौरान शुरू हुई थी. अमेरिका में अपनी मां राजेश्वरी के इलाज के दौरान श्रीदेवी बोनी के नजदीक आईं. साल 1993 में बोनी कपूर ने श्रीदेवी को ऑफिशियली  प्रपोज किया. जानकारी के मुताबिक, पहले उन्होंने मिथुन चक्रवती के दवाब में आकर बोनी कपूर को राखी बांधनी पड़ी थी.

16 बाद शुरू की दूसरी पारी
शादी के 16 साल बाद श्रीदेवी ने ‘इंग्लिश विंग्लिश’ से फिर एक बार फिल्मी दुनिया में अपनी दूसरी पारी से दमदार वापसी की. ‘इंग्लिश विंग्लिश’ के बाद उन्होंने ‘मॉम’ में अपने शानदार अभिनेय का परिचय दिया. शाहरुख खान की आने वाली फिल्म ‘जीरो’ में श्रीदेवी आखिरी बार अपने प्रशंसकों को नजर आएंगी. श्रीदेवी की यह दूसरी पारी बेहद ही छोटी रही.