Home खेल VIDEO : आज ही के दिन सचिन तेंदुलकर बने थे वनडे में...

VIDEO : आज ही के दिन सचिन तेंदुलकर बने थे वनडे में 200 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी

96
0
SHARE

टी20 क्रिकेट के आने के बाद वनडे क्रिकेट में काफी बदलाव आ गए हैं एक जमाने में 50 ओवर के मैच की एक पारी में 400 रन बनना नामुमकिन लगता था. इसी तरह वनडे में किसी एक खिलाड़ी का 200 रन बनाना भी नामुमकिन लगता था. लेकिन आज वनडे में दोहरा शतक जमाने वाले कई खिलाड़ी हैं. भारत के रोहित शर्मा तो इस काम को तीन बार अंजाम दे चुके हैं. लेकिन वनडे क्रिकेट में सबसे पहले 200 रन आज यानि 24 फरवरी को ही बनाए गए थे और यह उपलब्धि किसी और ने नहीं, बल्कि भारत में क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले खिलाड़ी ने हासिल की.

जी हां, आज ही के दिन साल 2010 में सचिन तेंदुलकर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ग्वालियर वनडे में क्रिकेट इतिहास में पहली बार वनडे में 200 रन का व्यक्तिगत स्कोर बनाने का कारनामा किया था. इस समय पूरी दुनिया में सचिन उन गिने चुने खिलाड़ियों में सबसे आगे चल रहे थे जिनसे सभी को उम्मीद थी कि वे 200 रन बना देंगे. और 2010 में सचिन तेंदुलकर ने इसे कर दिखाया.

उस समय दक्षिण अफ्रीका की टीम भारत के दौरे पर आई हुई थी. आज ही के दिन ग्वालियर में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच दूसरा वनडे खेला जा रहा था. तीन मैचों की सीरीज का पहला मैच भारत ने केवल एक रन से जीता था. भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. भारत की ओर से पारी की शुरुआत सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ने की थी लेकिन भारत ने सहवाग का विकेट जल्दी ही खो दिया.

सहवाग केवल 11 गेंदों में 9 रन ही बना सके. लेकिन सचिन कुछ और ही इरादे से बल्लेबाजी करने उतरे थे. चौथे ओवर में 25 के स्कोर पर सहवाग के आउट होने के बाद दिनेश कार्तिक के साथ सचिन ने अपने शानदार शॉट्स खेलना शुरु कर दिए और दोनों ने 194 की साझेदारी कर 34वें ओवर में भारत का स्कोर 219 तक पहुंचा दिया.

हालांकि कार्तिक 85 गेंदों पर 79 रन बना कर आउट हो गए, जबकि तब तक सचिन ने अपना शतक भी पूरा कर लिया था. आमतौर पर ऐसी स्थिति में टीमें बड़े स्कोर की ओर तो बढ़ती दिखाई देती हैं पर ऐसा हो नहीं पाता, लेकिन सचिन दूसरी इबारत लिखने को तैयार थे.

सचिन का साथ देने आए युसुफ पठान ने रन गति को धीमा पड़ने नहीं दिया और दोनों ने तेजी से रन बनाते हुए 42वें ओवर में ही भारत का स्कोर 300 रन पर पहुंचा दिया.  पठान केवल 23 गेंदों पर ही 36 रन बनाकर आउट हुए. इसके बाद कप्तान धोनी ने आते ही ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए सचिन का भरपूर साथ दिया. सचिन ने पचासवें ओवर की तीसरी गेंद पर अपना स्कोर 200 पर पहुंचा कर इतिहास रच दिया. इस पारी में सचिन ने केवल 147 गेंदों का ही सामना किया और 25 चौके और तीन छक्के लगाए.

इस मैच में भारत ने कुल 401 रन बनाए थे और दक्षिण अफ्रीका को भारत ने 153 रन से हराकर ऐतिहासिक जीत हासिल कर ली थी. बताने की जरूरत नहीं भारतीय पारी के आधे रन बनाने वाले सचिन तेंदुलकर ही इसमें मैन ऑफ द मैच रहे थे.