Home कारोबार PNB के 10 हजार क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डाटा लीक, चेक...

PNB के 10 हजार क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डाटा लीक, चेक करें कहीं आपका तो नहीं

56
0
SHARE

पंजाब नेशनल बैंक के लिए बुरा दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. महाघोटाले के बीच एक और बुरी खबर है. पीएनबी के 10 हजार क्रेडिट और डेबिट कार्ड का डाटा लीक हो गया है. हांग-कांग के एक अखबार एशिया टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 3 महीने में एक वेबसाइट के जरिए यह डाटा लीक हुआ है. सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स के मुताबिक बैंक ग्राहकों की बेहद संवेदनशील जानकारी लीक की गई है. बैंक को इसकी जानकारी 2 दिन पहले दी गई.

सिंगापुर की कंपनी ने किया खुलासा
सिंगापुर की कंपनी क्लाउडसेक इन्फॉर्मेशन सिक्युरिटी ने यह जानकारी दी है. उसका मुताबिक, उन्हें डार्क वेब पर एक ऐसी वेबसाइट मिली है जो गूगल और बाकी सर्च इंजन में शामिल ही नहीं है. चौंकाने वाली बात यह है कि पीएनबी ग्राहकों का तमाम डाटा यहां गैरकानूनी ढंग से बेचा जा रहा था.

नीरव मोदी घोटाले के बाद PNB ने बदला यह नियम, आपके लिए जानना जरूरी

पीएनबी को नहीं थी डाटा लीक की खबर
पंजाब नेशनल बैंक को डाटा लीक की जानकारी नहीं थी. यह खबर उस वक्त आई है जब पीएनबी पहले से ही 11400 करोड़ के लोन फ्रॉड मामले में फंसा हुआ है. हालांकि, दो दिन पहले ही बैंक को यह जानकारी दी गई. आपको बता दें, हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने पीएनबी के साथ 11400 करोड़ रुपए का फ्रॉड किया है और वह तब से देश छोड़कर फरार है.

PNB घोटालाः ईडी ने नीरव मोदी, चोकसी समूहों की 100 करोड़ की संपत्ति, लक्जरी कारें जब्त कीं

ये वेबसाइट रखती है नजर
क्लाउडसेक (CloudSek) कंपनी दुनियाभर के डाटा ट्रांजैक्शन्स पर नजर रखती है. इस का काम है कि यह ऐसी ट्रांजैक्शन पर नजर रखती है जो गलत ढंग से की जा रही है. कंपनी के चीफ टेक्निकल ऑफिसर राहुल शशि ने एशिया टाइम्स को दिए बयान के मुताबिक, कंपनी का एक प्रोग्राम डार्क वेब पर नजर रखने का काम करता है. अगर डार्क वेब पर कोई ऐसा डाटा आता है, जिस पर संदेह हो तो उसकी जांच की जाती है.

पीएनबी घोटाला: आयकर विभाग ने कसा शिकंजा, गीतांजलि समूह की 1200 करोड़ रुपए की संपत्तियां कुर्क

ऐसे लीक हो रहा था डाटा
राहुल शशि के मुताबिक, वेबसाइट पर ग्राहकों का डाटा दो अलग-अलग तरह से जारी किया जा रहा था. इसमें कार्ड के CVV और उसके बिना डाटा लीक हो रहा था. दरअसल, CVV और बिना CVV देने का मकसद सिर्फ बेचने है. अगर कोई CVV के साथ खरीदना चाहता है तो उस हिसाब से पैसा लिया जाता होगा.

PNB ने किया कन्फर्म
पीएनबी ने भी डाटा लीक होने की खबर को कन्फर्म किया है. बैंक के चीफ इन्फॉर्मेशन सिक्युरिटी ऑफिसर टीडी वीरवानी ने कहा कि बैंक कस्टमर्स के डाटा लीक होने की बात सही है. हम इस पर सरकार के साथ काम कर रहे हैं. लीक होने वाले डाटा में क्रेडिट-डेबिट कार्ड होल्डर का नाम, एक्सपायरी डेट, PIN और CVV तक बेची जा रही हैं.