Home खेल बोपन्ना-बाबोस की जोड़ी आस्ट्रेलियाई ओपन मिश्रित युगल के सेमीफाइनल में

बोपन्ना-बाबोस की जोड़ी आस्ट्रेलियाई ओपन मिश्रित युगल के सेमीफाइनल में

68
0
SHARE

ऑस्ट्रेलियाई ओपन में भारतीय उम्मीदें जिंदा हैं. भारत के रोहन बोपन्ना और हंगरी की टिमिया बाबोस की जोड़ी ने यहां कोलंबिया के जुआन सेबेश्चियन कबाल और अमेरिका की अबिगेल स्पीयर्स की जोड़ी को सीधे सेटों में पराजित कर ऑस्ट्रेलियाई ओपन के मिश्रित युगल वर्ग के सेमीफाइनल में प्रवेश किया. भारत-हंगरी की पांचवीं वरीय जोड़ी को क्वार्टरफाइनल में कबाल-स्पीयर्स को 6-4 7-6 से हराने में एक घंटा 15 मिनट लगा.

यह काफी चुनौतीपूर्ण मुकाबला रहा क्योंकि बोपन्ना और बाबोस को जीत दर्ज करने में मशक्कत करनी पड़ी. बल्कि कबाल और स्पीयर्स का ब्रेक प्वाइंट को अंक में तब्दील करने की गति बेहतर थी, जिन्होंने सात में से तीन को अंक में बदला जबकि बोपन्ना और बाबोस का रिकार्ड 4-12 रहा. लेकिन बोपन्ना और बाबोस पूरे मुकाबले में सजग रहे, ये दोनों पहली और दूसरी सर्व में अधिक विनर जमाने में सफल रहे.

 नडाल तीन सप्ताह के लिए बाहर

अंत में भारत-हंगरी इस जोड़ी ने अपने प्रतिद्वंद्वियों के 68 की तुलना में 78 अंक जुटाये. बोपन्ना और बाबोस का सामना अब सेमीफाइनल में स्टोर्म सैंडर्स और मार्क पोलमैंस की आस्ट्रेलियाई जोड़ी तथा मारिया जोस मार्टिनेज सांचेज और मार्सेलो डेमोलिनर की स्पेनिश-ब्राजीली जोड़ी के बीच होने वाले क्वार्टरफाइनल के विजेता से होगा.

स्पेन के राफेल नडाल दाएं पैर की मासपेशियों में समस्या के कारण तीन सप्ताह तक कोर्ट से दूर रहेंगे. इस बात की जानकारी नडाल ने बुधवार को दी. इस चोट के कारण नडाल ने आस्ट्रेलियन ओपन के क्वार्टरफाइनल में पांचवें सेट के बीच से अपना नाम वापस ले लिया था. समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, 31 साल के नडाल ने फेसबुक पर लिखा कि एमआरआई स्कैन से चोट की स्थिति का पता चला है.

16 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता नडाल ने कहा, “ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल से रिटायर होना काफी दुख देता है. चोट ज्यादा गंभीर नहीं है. अगले कुछ दिन आराम करूंगा और फीजियोथेरेपी करवाऊंगा.” 10 बार के फ्रेंच ओपन विजेता ने साफ किया कि यह चोट उन्हें अकापुल्को ओपन, इंडियन वेल्स और मियामी ओपन में हिस्सा लेने से नहीं रोक पाएगी.