इस मौसम में ऐसे रखें अपने बालों का ख्याल

नई दिल्ली: इस मौसम में बालों को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है। इसके लिए पार्लर जाने की जरूरत नहीं है। घर में नारियल, क्रीम और केले की मदद से हेयर मास्क बनाया जा सकता है। एक विशेषज्ञ की राय है कि इनसे बने मास्क रूखे-बेजान और कमजोर बालों के लिए अच्छे हैं। ‘स्टार सैलून एंड स्पा’ की मालकिन आश्मीन मुंजाल ने घर में बनाए जाने वाले कुछ ऐसे ही हेयर मास्क बताए हैं:-

नारियल और क्रीम:- यह मास्क सूखे और घुंघराले बालों के लिए सर्वश्रेष्ठ है। इसके मॉश्चराइज करने वाले तत्व बालों को मुलायम और चमकदार बनाते हैं। यह घर में आसानी से बनाया जा सकता है। नारियल तेल और जैतून तेल। दोनों तेलों को अच्छे से मिलाएं और बालों की जड़ों से अंतिम सिरे तक लगाएं। लगाने के बाद बालों को पूरी तरह ढक लें। एक घंटे बाद शैंपू कर लें और कंडिशनर लगाएं। इस मास्क से न केवल बाल मुलायम और चमकदार बनेंगे, बल्कि रूखे बालों को पोषण भी मिलेगा।

केला क्रीम:- यह मास्क कमजोर और रूखे-सूखे बालों में नई जान डालेगा। केला एक प्राकृतिक संघटक है, जो जड़ों को नुकसान से बचाकर बालों को मजबूती देता है। केले में मौजूद आयरन और विटामिन बालों को पोषण देते हैं। एक केला और एक चम्मच शहद। पका हुआ एक केला ग्राइंडर में अच्छे से पींस लें। उसके बाद उसमें एक चम्मच शहद डालें। इस पूरे घोल को जड़ से सिरों तक लगाएं। 15-20 मिनट तक लगा रहने दें और बाद में गुनगुने पानी से धो लें। इस लेप को आगे प्रयोग करने के लिए फ्रिज में रखा जा सकता है।

जई:- यह सिर की तैलीय चमड़ी, रूसी, खुजली और जलन से जूझने वाले लोगों के लिए बेहतरीन है। एक चम्मच जई, एक चम्मच दूध और एक चम्मच बादाम का तेल। इन सभी चीजों को मिलाएं और लेप बना लें। लेप में कोई गांठ नहीं रहनी चाहिए। बालों में अच्छे से लगाएं। 15-20 मिनट लगा रहने दें और बाद में गुनगुने पानी से धो लें।

गुड़हल के फूल:- अगर आप कमजोर जड़ों और पतले बालों की समस्या से ग्रस्त हैं, तो यह लेप आपके लिए आदर्श है। इसके जरूरी तत्व बालों की जड़ों को मजबूती देते हैं। गुड़हल की पत्तियां रातभर पानी में भिगोएं। सुबह में जैतून तेल और कच्चे दूध के साथ पीस लें। इसे बालों पर लगाएं। इसे 20-25 मिनट लगाए रखें और बाद में ठंडे पानी से धो लें।

Related Post
नई दिल्ली: थाइरॉइड की गड़बड़ी एक ऐसी स्थिति है जो थाइरॉइड के कार्यों पर प्रभाव
नई दिल्ली : अनानास यानी पाइनऐप्पल बाहर से सख्त लेकिन अंदर से जूसी फल होता
यॉर्क : गर्भावस्था के दौरान मस्तिष्क (ब्रेन) प्रोटीन के स्तर में कमी की वजह से
ह्यूस्टन: भोजन को मसालेदार बनाने के लिए मशहूर भारतीय पीपली का उपयोग जल्द ही कैंसर
नई दिल्ली: आम तौर पर सर्दी होने या शा‍रीरिक पीड़ा होने पर घरेलू इलाज के

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *